Tuesday, June 28, 2022
HomeHINDITulsi Plant Caring Tips And How To Stop Tulsi Plant From Drying...

Tulsi Plant Caring Tips And How To Stop Tulsi Plant From Drying – Tulsi का बार-बार सूखना नहीं है अच्छा, इस तरह बनाएं सूखे हुए तुसली के पौधे को फिर से हरा-भरा


Tulsi Care: सूखा हुआ तुलसी का पौधा अच्छा नहीं माना जाता है.

खास बातें

  • तुलसी का पौधा सूखना माना जाता है अशुभ.
  • तुलसी की पूजा में रखी जाती है सावधानी.
  • बिना स्नान किए नहीं तोड़ी जाती है तुलसी.

Tulsi Care: हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले अधिकांश लोग अपने घर में तुलसी (Tulsi) का पौधा लगाते हैं. साथ ही रोजाना इसमें जल देते हैं और पूजा-अर्चना करते हैं. घर में हरा-भरा तुलसी का पौधा (Tulsi Plant) खुशहाली का प्रतीक माना जाता है. यही कारण है कि लोग तुलसी के पौधे की विशेष देखभाल करते हैं. मगर कई बार नियमित रूप से देखभाल करने के बाद भी तुलसी का पौधा सूख जाता है. तुलसी के पौधे का सूखना शुभ नहीं माना जाता है. सूखा हुआ तुलसी का पौधा (Dry Tulsi Plant) दुर्भाग्य का प्रतीक माना जाता है. कहा जाता है कि तुलसी का पौधा सूखने से मां लक्ष्मी (Maa Lakshmi)) नाराज हो जाती हैं. कहा जाता है कि अगर तुलसी का पौधा (Basil Plant) लगाते वक्त दिशा का ध्यान रखा जाता है और सावधानियां बरती जाती हैं तो उसे सूखने से  बचाया जा सकता है. आइए जानते हैं तुलसी से जुड़े जरूरी नियम.

यह भी पढ़ें

सूखे हुए तुलसी के पौधे का ख्याल रखना | Taking Care Of Dry Tulsi Plant 

तुलसी के लिए मिट्टी 


धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक तुलसी का पौधा सूखने से जीवन में दुर्भाग्य आ सकता है. अगर आप चाहते हैं कि तुलसी का पौधा ना सूखे तो उसके लिए सही मिट्टी का चयन करना बेहद जरूरी है. कहा जाता है कि तुलसी के लिए लाल या रेतीली मिट्टी सबसे अच्छी होती है. 

ऐसे रहेगा तुलसी का पौधा हरा-भरा


तुलसी को पौधे को जीवित रखने के लिए उसमें गाय के गोबर की खाद का इस्तेमाल किया जाता है. पौधे में गीला गोबर नहीं डलना चाहिए. गाय के गोबर को सुखाकर पाउडरनुमा बना लें और फिर समय-समय पर तुलसी के पौधे में डालते रहें. ऐसा करने से तुलसी हरी-भरी रहेगी. 

इस दिन नहीं तोड़नी चाहिए तुलसी


कुछ घरों में लोग बिना नहाए तुलसी का पत्ता तोड़ते हैं, जिसे सही नहीं माना गया है. कहा जाता है कि बिना स्नान किए तुलसी का पौधा कभी नहीं तोड़ना चाहिए. साथ ही एकादशी और अमावस्या के दिन तुलसी नहीं तोड़नी चाहिए. एकादशी के दिन भगवान को तुलसी चढ़ाने के लिए एक दिन पहले की तोड़ लिया जाता है. 

तुलसी में जल देते वक्त रखें ध्यान


मान्यता है कि गुरुवार (Thursday) को तुलसी के पौधे को कच्चे दूध से सींचना चाहिए. कहा जाता है कि ऐसा करने से तुलसी (Tulsi) में अधिक देर तक नमी बनी रहती है. साथ ही वह हमेशा हरा-भरा नजर आता है. धार्मिक मान्यता के मुताबिक रविवार को तुलसी में जल नहीं  देना चाहिए. बरसात के मौसम में तुलसी में पानी नहीं देना चाहिए. क्योंकि इससे उसकी जड़ को खतरा रहता है. 

मंजरी हटाते रहें

ऐसा कहा गया है कि तुलसी के पौधे में जब मंजरी आना शुरू हो जाए तो समझ लेना चाहिए कि पौधे के ऊपर बोझ बढ़ रहा है. ऐसे में तुलसी की मंजरी तोड़ते रहना चाहिए. साथ ही उसे किसी गुरुवार के दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) के चरणों में अर्पित कर देना चाहिए. मान्यता है कि ऐसा करने से भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.) 

कुतुब मीनार में पूजा मामले में 9 जून को फैसला सुनाएगी साकेत कोर्ट



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: